दक्षिणदिल्ली के अरावली बायोडायवर्सिटी पार्क में बोगनविलिया की 28 प्रजातियों देखीं जा सकतीं हैं। यहां बोगनविलेरियम का डीडीए उपाध्यक्ष अरुण गोयल ने सोमवार को उद्घाटन किया।

अरावली की पहाड़ी पर वसंत कुंज स्थित लगभग 700 एकड़ क्षेत्र में फैले अरावली बायोडायवर्सिटी पार्क में अनेक खूबसूरत प्राकृतिक दृश्य आप देख सकते हैं। यहां पर अरावली की पहाड़ी पर पाए जाने वाले देसी पौधे, पेड़, औषधीय पौधे, बटरफ्लाई पार्क, नेचर इंंटरप्रिटेशन सेंटर है। मेनिक्योर्ड रिक्रिएशन गार्डन में 30 तरह की बोगनविलिया फूलों की प्रजाति विकसित की गई हैं। यहां चेरी ब्लॉसम, लैंसबैंस ब्यूटी, रोजा डिलाइट, सुब्रा, मेरी पाल्मर स्पेशल, विशाखा, महारा रोजविले सहित 28 प्रजातियां विकसित हैं। इसके अलावा गुलाब की 28 हाइब्रिड प्रजाति (अब्राहम लिंकन, इको, ब्लू मून, एफिल टॉवर, आइसबर्ग, सोमर, कश्मीर, सुपरस्टार, जेम्ब्रा इत्यादि) के अलावा अनेक तरह के देसी पौधे और सजावटी पौधे विकसित किए गए हैं।

Categories: News & Updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

News & Updates

आखिर क्यों ख़तम करवाने में लगे हैं अरावली को नेता और सरकारी अफसर

​दिल्ली एनसीआर के एकमात्र बचे जंगल – अरावली क्षेत्र को आज ज्यादातर नेता और सरकारी अफसर एकजुट होकर बेचने और इसे ‘जंगल ना होने’ का तमगा देने में लगे हैं जो की आने वाले समय Read more…

News & Updates

अरावली की सच्चाई, जो हर किसी को पता होनी चाहिए।

दिल्ली एनसीआर की अरावली पर्वतमाला जो कि यहाँ की लाइफलाइन मानी जाती है, आजकल बिल्डरों और माफिया की गिरफ्त में आने के कारण काफी चर्चा में है जिसको ‘सेव अरावली’ और उसकी सहयोगी संस्थायें एवं Read more…

News & Updates

क्या अरावली को बचाने भी कोई सरफिरा आशिक आएगा ?

एक दशरथ मांझी भी हुए है इस दुनिया में जिन्होंने अपनी पत्नी की याद में अकेले ही एक कुल्हाड़ी और हथौड़े से, पहाड़ तोड़कर रास्ता बनाया था पर आज इन पहाड़ो को ज़रुरत है एक Read more…